भाजपा नेता से वसूली मामले में थाना प्रभारी लाइनहाजिर, चार सिपाही सस्पेंड

11
लाइनहाजिर

अयोध्या। भाजपा किसान मोर्चा महानगर मंत्री और बूथ प्रभारी पूराकलंदर थाना क्षेत्र के केशवपुर अंजना गाँव निवासी रमेश कुमार पांडेय को जबरिया थाने ले आकर एनडीपीएस और आर्म्स एक्ट में जेल भेजने की धमकी देकर 40 हजार रुपया वसूलने के मामले में पूराकलंदर थाने के चार सिपाहियों को निलंबित किया गया है। वहीं थाना प्रभारी को लाइन हाजिर कर दिया गया है। इसी थाने के एक सिपाही को चंद दिन पूर्व धन उगाही के आरोप में निलंबित किया गया था।

बताया गया कि 23 अक्टूबर की शाम लगभग 6 बजे केशवपुर अंजना गाँव पहुंचे पूराकलंदर थाने के सिपाहियों ने भाजपा किसान मोर्चा के महानगर जिला मंत्री तथा गांव के बूथ प्रभारी रमेश कुमार पांडेय पुत्र स्व. स्वामीनाथ के घर की जबरिया तलाशी ली थी। तलाशी में कुछ भी न मिलने के बावजूद पुलिसकर्मी भाजपा नेता को पूराकलंदर थाने ले गए। थाने ले जाने के बाद पुलिसकर्मियों ने उनको धमकाया कि 50 हजार रूपये दो, नहीं तो एफआईआर दर्ज करवा कर जेल भेज देंगे।

भाजपा नेता ने कहा कि न तो उन्होंने कोई अपराध किया है और न ही उनके घर से तलाशी में कोई आपत्तिजनक वस्तु मिली है, तो उनके खिलाफ किस अपराध में कार्रवाई होगी।

इस पर सिपाहियों ने पुड़िया दिखाकर कहा कि अपराध और मुकदमा तो पुलिस बनाती है। इसी स्मैक और तमंचा-कारतूस में एफआईआर दर्ज करवा चालान कर दिया जायेगा। डरे सहमें भाजपा नेता ने अपनी जान बचाने के लिये परिचितों से रुपया उधार लिया तथा पुलिस को 40 हजार दिया और चिरौरी-विनती कर किसी तरह थाने से छूटे। पुलिस के चंगुल से छूटने के बाद उन्होंने आप-बीती पार्टी के पदाधिकारियों को बताई तो पदाधिकारियों ने दीपोत्सव और प्रधानमंत्री का आगमन होने का वास्ता देकर शांत रहने को कहा।

कार्यक्रम संपन्न होने के बाद पीड़ित भाजपा नेता ने शुक्रवार को शिकायत एसएसपी दी। शिकायत में उनका कहना है कि थाने सिपाही राहुल सिंह, धीरेन्द्र मिश्रा और शाहिद खान ने उनके घर पहुंच बेवजह तलाशी ली और कुछ भी न मिलने के बावजूद थाने लेकर स्मैक और असलहे में जेल भेजने की धमकी देकर 40 हजार रूपये वसूल लिया।

मामले में एसएसपी प्रशांत वर्मा ने देर रात पूराकलंदर थाने के चार सिपाहियों राहुल सिंह, धीरेन्द्र मिश्रा, कृष्ण कुमार और शाहिद खान को निलंबित किया है। वहीं थाना प्रभारी राजेश सिंह को लाइन हाजिर कर दिया है। शनिवार को पुलिस कार्यालय से बताया गया कि कार्रवाई के साथ मामले की विभागीय जाँच के आदेश दिए गए हैं।

  • मनोज तिवारी
Click